Home

नागरिक अधिकार पत्र

 

प्रबंध निदेशक एवं मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी का संदेश

प्रिय ग्राहक/उपभोक्‍ता/स्‍टोकहॉल्‍डर्स(पणधारक),

जनसंख्‍या के सभी वर्गों के लिए सेवा प्रदान करने हेतु राष्‍ट्रीय आवास बैंक ने अपनी नीतियों के माध्‍यम से एक सुदृढ, स्‍वस्‍थ, अर्थक्षम एवं लागत प्रभावी आवास वित्‍त प्रणाली के संवर्धन का समर्थन किया है. इस नागरिक अधिकार पत्र के माध्‍यम से हम और हमारी गतिविधियां उद्योग से जुड़े हमारे ग्राहकों, उपभोक्‍ताओं, अन्‍य ऋणधारकों व भागीदारो के और करीब आना चाहते हैं. एनएचबी को प्रदत्त अध्‍यादेश की ओर हमारे दृष्टिकोण, मिशन व अन्‍य कई तत्‍व नागरिक अधिकार पत्र के लिए हमारी प्रतिबद्धता और जिम्‍मेदारियों को प्रबलित करता है।
जनता की मांग और जरूरतों को पूरा करने हेतु हमसे की जाने वाली आशाओं से ही नागरिक अधिकार पत्र चलता है. सामाजिक व वित्त वर्ग की गतिशीलता और सदैव परिवर्तन होते बाजार को अनुकूल बनाने हेतु हमें पर्याप्‍त लचीलापन प्राप्‍त करने की जरूरतों को समझना होता है.
अधिकार पत्र को और अधिक सेवार्थ बनाने में सहायता हेतु रा.आ.बैंक अधिनियम 1987 के अध्‍यादेश के रूप में प्रतिष्‍ठापित है। हम जनता के प्रतिनिधि और अन्‍य पणधारकों के सुझावों को आमंत्रित करते हैं
हम वित्तीय सेवा विभाग, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार, लोक शिकायत एवं प्रशासनिक सुधार मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक को इस अधिकार पत्र का आभार प्रकट करना चाहते है जिन्‍होंने  लाने में हमारी सहायता व मार्गदर्शन किया जिससे हमारा दृष्टिकोण और परिपूर्ण हो गया है.हस्‍ताक्षर:-(आर.वी. वर्मा)
अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक
राष्‍ट्रीय आवास बैंक