Home

परियोजना वित्‍त सेवाएं

 
परियोजना वित्‍त सेवाएं
भाग क – उद्देश्‍य

बैंक के परियोजना वित्‍त (प्रत्‍यक्ष उधार) क्रियाकलाप अधिनियम की धारा 14(बीए) के अनुसार किये जा रहे हैं। बैंक की परियोजना वित्‍त नीति का लक्ष्‍य समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की आवासीय आवश्‍यकताओं पर विशेष बल सहित देश में आपूर्ति में हस्‍तक्षेप के माध्‍यम से समग्र आवास स्‍टॉक में वृद्धि को सुगम बनाना है।

भाग ख – पात्र संस्‍थाएं

1. सार्वजनिक संस्‍थाएं

बैंक निम्‍नलिखित सार्वजनिक संस्‍थाओं को उनके आवास कार्यक्रमों के लिये वित्‍तीय सहायता उपलब्‍ध कराने का प्रयास करेगा:

  • राज्‍य आवास बोर्ड/सुधार न्‍यास
  • राज्‍य स्‍लम शोधन बोर्ड/प्राधिकरण
  • विकास प्राधिकरण
  • नगर निगम/ परिषद्/ शहरी स्‍थानीय निकाय
  • नए शहर विकास संस्‍थान
  • आवास एवं शहरी विकास के लिये स्‍थानीय प्राधिकरण
  • केंद्रीय एवं राज्‍य सरकार कर्मचारियों के आवास कल्‍याण संगठन जैसे सीजीईडब्‍ल्‍यूएचओ, एडब्‍ल्‍यूएचओ, एएफएनएचबी, आईआरडब्‍ल्‍यूओ आदि।
  • विशेष आवास कार्यक्रमों के लिये स्‍थापित अन्‍य संस्‍थाएं
  • सार्वजनिक आवास संस्‍थानों/सार्वजनिक वित्‍तीय संस्‍थानों द्वारा एकल अथवा निजी क्षेत्र के साथ संयुक्‍त तौर पर विशेष परियोजना अथवा निरंतरता के आधार पर स्‍थापित एसपीवी।
  • राज्‍य आवास नीतियों के अनुसार सार्वजनिक निजी भागीदारी प्रतिमानों के तहत किफायती आवास परियोजनाएं जिसमें सार्वजनिक संस्‍थाओं को तैयार आधार पर आवासों के ईडब्‍ल्‍यूएस/एलआईजी श्रेणियों के निर्माण में निजी विकासकों को शामिल कर किफायती आवास (ईडब्‍ल्‍यूएस एवं एलआईजीन आवास) के बड़े पैमाने पर निर्माण को क्रियान्वित करने के लिए नोडल एजेंसी के रूप में नामित किया गया हो।

सार्वजनिक आवास संस्थानों की निम्‍नलिखित परियोजनाएं वित्‍तीय सहायता हेतु पात्र होंगी

  • बस्‍ती पुनर्वास/बस्‍ती सुधार परियोजनाएं।
  • रिहायशी आवास परियोजनाएं।
  • नगर-क्षेत्र सह आवास विकास परियोजना।
  • नगर-क्षेत्र एवं आवास विकास के उद्देश्‍य हेतु भूमि अधिग्रहण।
  • आवास निर्माण हेतु भूमि विकास।
  • टर्न-की/तैयार आवास परियोजनाएं।
  • प्राकृतिक आपदाओं के परिणामस्‍वरूप शुरू की गईं विशेष आवास परियोजनाओं के लिये ऋण संवितरण कार्यक्रम।
  • आवास व्‍यवस्‍थापन हेतु बुनियादी सेवा विकास।
  • किराया आवास परियोजनाएं।

2. कॉर्पोरेट्स:

निर्माण वित्त पोषण की सुविधा कॉर्पोरेट्स तक उनके कर्मचारियों के किराया/स्‍वामित्‍व आवास हेतु विस्‍तारित किया जाएगा।

भाग ग – वित्‍तीय सुविधाओं के प्रकार
  • सावधि ऋण ऋण के उद्देश्‍य के आधार पर, सावधि ऋण किसी भी पात्र एजेंसी को अधिकतम 15 वर्ष की अवधि के लिये उपलब्‍ध कराया जाएगा। उधारकर्ताओं को उनकी अल्‍पावधि चलनिधि अपेक्षाएं पूरी करने के लिये उपलब्‍ध कराया जाएगा। ऋण की अधिकतम अवधि 2 वर्ष होगी।
भाग घ – नियम एवं शर्तें

1.ऋणों की अवधि

परियोजना वित्‍त ऋणस्‍थगन अवधि, यदि कोई हो, सहित अधिकतम 15 वर्षों के लिए उपलब्‍ध कराया जाएगा।

2.प्रतिभूति

उधारकर्ता की प्रकृति के आधार पर निम्‍नलिखित प्रतिभूतियों में से एक या अधिक प्राप्‍त किया जा सकता है:

  • मोर्टगेज / अचल संपत्तियों पर प्रभार / वसूली पर प्रभार / बैंक गारंटी / सरकारी गारंटी / अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की सावधि जमा पावतियां / कॉर्पोरेट गारंटी
  • कोई अन्‍य प्रतिभूति, यदि राष्ट्रीय आवास बैंक को मामला दर मामला पर स्‍वीकार्य हो

3. प्रतिभूति की सीमा

सार्वजनिक क्षेत्र ऐजेंसियां/ संयुक्‍त क्षेत्र ऐजेंसियां – ऋण राशि का कम से कम 100 प्रतिशत।

4. संस्‍वीकृति की वैधता

संस्‍वीकृति छह माह के लिए वैध होगी।

5. ब्‍याज दरें

सभी परियोजना वित्त ऋणों हेतु ब्‍याज दर एजेंसियों/परियोजना के आंतरिक क्रेडिट रेटिंग पर आधारित होते हैं।

बैंक ने 4.00% प्रति वर्ष की ब्‍याज दर से विशेष निधि से शहरी स्‍थानीय निकायों (यूएलबी) के द्वारा शुरू किए जा रहे जल एवं स्‍वच्‍छता कार्यक्रमों हेतु 5 करोड़ रु. की अधिकतम वार्षिक सीमा के साथ वित्तीय सहायता को बढ़ाया है।

6. पूर्व-भुगतान प्रभार

ऋणों का पूर्व-भुगतान एक महीने के नोटिस प्राप्‍त होने के बाद ही स्‍वीकार्य किया जा सकता है और यह पूर्वदत्त किए जाने वाली राशि के 0.50 प्रतिशत के पूर्व-भुगतान प्रभार पर निर्भर करेगा।

7. वापसी/चुकौती

  • मूलधन का पुनर्भुगतान समान तिमाही/ मासिक किस्‍तों में किया जाएगा जो अधिस्थगन अवधि के बाद उत्तरवर्ती तिमाही के पहले दिन शुरू होगा जब तक अन्यथा निर्दिष्ट नहीं किया गया हो।
  • ब्‍याज का भुगतान आमतौर पर तिमाही आधार पर परियोजना कार्यान्‍वयन अवधि, किस्‍तों के चुकौती देय होने से पहले किया जाएगा।

8. सेवा शुल्क

ऋण राशि के 0.5% का सेवा शुल्क (अग्रिम) उनके द्वारा प्रस्‍तुत प्रस्‍तावों के संबंध में सभी उधारकर्ताओं से प्रभारित किया जाएगा।

9. अपने ग्राहक को जानिए

उधारकर्ताओं का केवाईसी बैंक के केवाईसी नीति के अनुसार किया जाएगा।

राष्ट्रीय आवास बैंक से वित्तीय सहायता प्राप्त करने की इच्छुक एजेंसियों को कुछ मानदंडों और शर्तों को पूरा करना होगा। अधिक जानकारी के लिए कृपया निम्न जानकारी पर संपर्क करें।

महाप्रबंधक
परियोजना वित्‍त विभाग
राष्ट्रीय आवास बैंक
कोर 5-ए, चौथी मंजिल
भारत पर्यावास केंद्र, लोधी रोड
नई दिल्ली – 110 003
फोन (011) 39187182/39187324
ईमेल : pfd[at]nhb[dot]org[dot]in

पैनलबद्ध परियोजना सलाहकारों की सूची


पैनलबद्ध ऋणदाताओं के स्वतंत्र अभियंताओं (एलआईई) की सूची